April 17, 2024

कई मुद्दों पर केंद्र की मोदी सरकार की कड़ी आलोचना करने वाले और जम्मू-कश्मीर के पूर्व राज्यपाल सत्यपाल मलिक के घर और दफ्तर पर सीबीआई की टीम ने रेड मारी है। इसके साथ ही केंद्रीय एजेंसी ने जम्मू-कश्मीर के 30 ठिकानों पर भी छापेमारी की है। जम्मू-कश्मीर के किरू हाइड्रो इलेक्ट्रिक प्रोजेक्ट से जुड़े कथित भ्रष्टाचार से जुड़े मामले में सीबीआई ने यह कार्रवाई की है।

किश्तवाड़ में चिनाब नदी पर प्रस्तावित कीरू हाइड्रो पावर प्रोजेक्ट के लिए साल 2019 में 2200 करोड़ रुपये के सिविल वर्क का कॉन्ट्रैक्ट दिया गया था। इस प्रोजेक्ट में कथित भ्रष्टाचार का आरोप है। जिस समय यह कॉन्ट्रैक्ट दिया गया, उस समय सत्यपाल मलिक जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल थे। वह 23 अगस्त, 2018 से 30 अक्टूबर, 2019 तक जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल थे, जो अब केंद्र शासित प्रदेश है।इससे पहले सत्यपाल मलिक ने आरोप लगाया था कि जिस समय वह जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल थे, उस समय परियोजना से संबंधित दो फाइलों को मंजूरी देने के लिए 300 करोड़ रुपये की रिश्वत की पेशकश की गई थी। पिछले महीने भी इस केस में चल रही जांच के सिलसिले में सीबीआई ने दिल्ली और जम्मू-कश्मीर में करीब 8 जगहों पर छापेमारी की थी। सीबीआई ने छापेमारी के दौरान 21 लाख रुपये ज्यादा की नगदी के अलावा डिजिटल उपकरण, कंप्यूटर, संपत्ति दस्तावेज बरामद किए थे। सीबीआई ने चिनाब वैली पावर प्रोजेक्ट्स (प्राइवेट) लिमिटेड (CVPPPL) के पूर्व अध्यक्ष नवीन कुमार चौधरी, पूर्व अधिकारियों एमएस बाबू, एमके मित्तल और अरुण कुमार मिश्रा और पटेल इंजीनियरिंग लिमिटेड के खिलाफ केस दर्ज किया था। चौधरी 1994-बैच के जम्मू-कश्मीर-कैडर (अब एजीएमयूटी कैडर) के आईएएस अफसर हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *