April 17, 2024

नई दिल्ली: गाजा में इज़रायल -हमास युद्ध के लगभग छह महीने बाद संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने सेमवार (25 मार्च) को रमजान के अंत तक ‘तत्काल युद्धविराम’ का आह्वान करते हुए एक प्रस्ताव पारित किया.

रिपोर्ट के मुताबिक, सुरक्षा परिषद में संघर्ष विराम के लिए स्थायी और टिकाऊ युद्धविराम के उपायों की मांग की गई. इसके पक्ष में 15 में से 14 सदस्यों ने मतदान किया, जबकि इजरायल का सबसे बड़ा समर्थक अमेरिका मतदान में अनुपस्थित रहा. यह अमेरिका के रुख में एक महत्वपूर्ण बदलाव के तौर पर देखा जा रहा है.

संयुक्त राष्ट्र की एक रिपोर्ट में इस मसौदे के पुराने संस्करण से ‘स्थायी’ शब्द हटाने और इसके बजाय ‘तत्काल युद्धविराम’ जोड़ने को लेकर महत्वपूर्ण बताया गया है.

इस मसौदे में इज़रायल पर 7 अक्टूबर के हमले के बाद हमास द्वारा बंधक बनाए गए लोगों की बिना शर्त रिहाई के प्रस्ताव को भी मंजूरी दी गई है. हालांकि यह मांग 9 अप्रैल को समाप्त होने वाले रमज़ान के दौरान युद्धविराम की मांग से जुड़ी नहीं है.

इस सफल प्रस्ताव का मसौदा आंशिक रूप से सुरक्षा परिषद में अरब ब्लॉक के वर्तमान सदस्य अल्जीरिया द्वारा तैयार किया गया था, जिसमें स्लोवेनिया और स्विटजरलैंड सहित विभिन्न देशों के समूह शामिल थे.

उन्होंने कहा, ‘खून-खराबा बहुत हो गया है. आखिरकार, सुरक्षा परिषद अंतरराष्ट्रीय समुदाय और महासचिव के आह्वान का जवाब दे रही है.’ गौरतलब है कि अब यह इज़रायल इस निर्भर है कि वह इस प्रस्ताव को स्वीकार और लागू करेगा या नहीं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *